आम आदमी के लिए अच्छी खबर: 10 दिन में और गिरे काजू-बादाम और किशमिश के दाम, चेक कीजिए लिस्ट

0
134

नया माल आने से और गिरे रेट

Dry Fruits Rate List 2020: लॉकडाउन के बाद से मेवा के दाम गिरने शुरु हो गए. ग्राहक के बाज़ार में न होने और गोदामों में माल भरा होने की वजह से यह रेट गिरे. हालांकि, दिवाली से पहले रेट बढ़ते हैं, लेकिन इस बार उल्टा ही हुआ.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 17, 2020, 9:50 PM IST

नई दिल्ली. कोरोना-लॉकडाउन का असर कहो या फिर कुछ और, लेकिन बाज़ार में काजू-बादाम (Dry Fruits Rate List) के रेट हर रोज़ चौंका रहे हैं. कुछ लोग इसे नई फसल के आने और पुराने माल का गोदामों से खत्म न होने के असर के तौर पर भी देख रहे हैं. वजह जो भी हो, लेकिन ग्राहकों को मेवा के ऐसे-ऐसे रेट देखने और सुनने को मिल रहे हैं जो उन्होंने सोचे भी नहीं थे. बीते 10 दिन के अंदर एक बार फिर मेवा के दाम कम हुए हैं. अमेरिकन बादाम जिसे कैलिफोर्निया बादाम भी कहा जाता है एकदम निचले स्तर प आ गया है.नया माल आने से और गिरे रेट- दिल्ली में कई पीढ़ियों से मेवा का कारोबार करने वाले राजीव बत्रा ने न्यूज18 हिंदी को खास बातचीत में बताया कि लॉकडाउन से पहले मेवा 20 फीसदी तक महंगी हो गई थी. यह वो वक्त होता है जब पुराना माल खत्म हो रहा होता है और नई फसल का माल आने की तैयारी की जाती है. लेकिन लॉकडाउन के बाद से मेवा के दाम गिरने शुरु हो गए. ग्राहक के बाज़ार में न होने और गोदामों में माल भरा होने की वजह से यह रेट गिरे. जबकि दीवाली की तैयारी के चलते ऐसे में रेट बढ़ते हैं, लेकिन इस बार उल्टा ही हुआ.

ये भी पढ़ें-इस दिवाली पर ऐसे निकला चीन दिवाला! लगी 40 हजार करोड़ रुपये की चपत 

10 दिन पहले और अब के रेट-अमेरिकन बादाम 900 से 660 रुपये किलो पर आया था.
अब 520 से 580 रुपये किलो बिक रहा है.
काजू 1100 से 950 रुपये किलो पर आया था.
अब 660 से 710 रुपये किलो बिक रहा है.
किशमिश 400 से 350 रुपये किलो पर आई थी.
अब 200 से 230 रुपये किलो बिक रही है.

पिस्ता के दाम में इसलिए आया मामूली अंतर -10 दिन पहले पिस्ता 14 सौ रुपये किलो के भाव से सीधे 11 सौ रुपये किलो पर आ गया था. हालांकि 10 दिन बाद पिस्ते के रेट में कोई बहुत ज़्यादा फर्क नहीं आया है. पिस्ता में 100 से 150 रुपये किलो का फर्क बाज़ार में देखा जा रहा है. जानकार बताते हैं कि ऐसा इसलिए है कि अभी पिस्ता की नई फसल के बारे में कोई ठीक-ठाक जानकारी बाज़ार में नहीं आई है. वहीं अखरोट की मिंगी बाज़ार में 800 से 850 रुपये किलो बिक रही है. सर्दियों के मौसम में अखरोट की सबसे ज़्यादा डिमांड होती है.

! function(f, b, e, v, n, t, s) { if (f.fbq) return; n = f.fbq = function() { n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments) }; if (!f._fbq) f._fbq = n; n.push = n; n.loaded = !0; n.version = '2.0'; n.queue = []; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e)[0]; s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView');

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here